ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
यूपी में कोरोना के रिकॉर्ड 630 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 16 हजार के करीब
June 18, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • Lucknow/UP News

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रकोप अब बढ़ता ही जा रहा रहा है। राज्य में बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 630 नए मामले सामने आए हैं। इसके सात ही कुल संक्रमितों की संख्या 16 हजार के पास जा पहुंची है। वहीं अभी तक इस बीमारी से करीब 500 के आसपास लोगों की मौत हो चुकी है। गुरुवार को राज्य के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने इस बात की जानकारी दी।

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि बीते 24 घंटे में 630 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 15 हजार 785 हो गई है। कुल मामलों में से अभी तक 9638 लोग इलाज के बाद पूर्णतः उपचारित हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। वहीं राज्य में अभी कोरोना के 5659 सक्रिय मामले हैं, जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। प्रसाद ने कहा कि इस महामारी की चपेट में आकर राज्य में अभी तक 488 लोगों की जान गई है।

अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि हम लगातार अपनी टेस्टिंग क्षमता को बढ़ा रहे हैं। अभी तक कुल 5 लाख 15 हजार 280 सैंपल की जांच हो चुकी है। बुधवार को विभिन्न लैब में 16 हजार 546 सैंपल की टेस्टिंग हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के मुताबिक, हम आने वाले 20 जून तक अपनी क्षमता को बढ़ा कर प्रतिदिन 20 हजार टेस्ट करने लगेंगे। इसके लिए हम लगातार प्रयासरत हैं।

प्रमुख स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में लोग आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐप से मिल रहे अलर्ट के आधार पर स्टेट कंट्रोल रूम से कॉल कर हाल चाल भी लिया जा रहा है। इसके साथ ही प्रवासियों के ट्रैकिंग का काम भी चल रहा है। आशा वर्कर से प्राप्त डेटा के आधार पर टेस्टिंग का काम भी किया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश में अभी तक साढ़े चार करोड़ लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग भी हो चुकी है।

अमित मोहन प्रसाद ने एक बार फिर कहा कि कोरोना एक संक्रामक बीमारी है। यह किसी को भी हो सकती है। ऐसे भी सभी लोग अपना ध्यान रखें। बाहर निकलें तो मास्क लगाएं और दो गज दूरी के नियम का पालन करें। उन्होंने कहा कि अगर किसी में भी लक्षण दिखते हैं तो वो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे और अपनी जांच कराए। जांच और उपचार की व्यवस्था उत्तर प्रदेश में निशुल्क है।