ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित देशों में भारत की स्थिति बेहतर
June 22, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • National/Others

नई दिल्ली I भारत संक्रमण के मामले में भले ही चौथे नंबर पर हो पर शीर्ष संक्रमित देशों के मुकाबले भारत में स्थिति काफी बेहतर है। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ेंगे। आइए जानते हैं दुनिया के मुकाबले भारत कहां खड़ा है।

कोविड जांच: अमेरिका और रूस सबसे आगे 

वर्डोमीटर्स के अनुसार, अब तक सबसे ज्यादा 2.79 करोड़ जांचें अमेरिका में हुई हैं। दूसरे नंबर पर 1.69 करोड़ जांचों के साथ रूस है। ब्रिटेन में 77 लाख से अधिक परीक्षण हुए जबकि भारत में अब तक 6,807226 जांचे हुई हैं। भारत में प्रति दस लाख आबादी पर 4934 जांच हो रही हैं जबकि अमेरिका में यह संख्या 84544 और रूस में 116,481 है। दुनिया के 75 % मामले दस देशों से आ रहे विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, अमेरिका, ब्राजील, रूस, भारत, ब्रिटेन, स्पेन, पेरू, इटली, चिली, ईरान से दुनिया के 75 प्रतिशत संक्रमित मामले आ रहे हैं।रोजाना मिलने वाले मामलों में तेजी आई है। अमेरिका में रविवार को 37 हजार से अधिक केस आए जबकि ब्राजील में रिकॉर्ड 54 हजार मामले आए।
 
मरीजों की मौत: भारत में सबसे कम जान गईं 

प्रति दस लाख आबादी पर शीर्ष पांच संक्रमित देशों में भारत में सबसे कम मौतें हुई हैं। प्रति दस लाख आबादी पर कुल 10 मौतें हैं।
 
स्वस्थ हुए मरीज: चौथे नंबर पर भारत 

अमेरिका में ठीक हो चुके मरीजों की 973,055 है। ब्राजील में 543,186, रूस में 339,711 जबकि भारत में 228,504 है।
 
गंभीर मरीज: भारत में अमेरिका जैसे हालात नहीं 

अमेरिका में कुल गंभीर मरीजों की संख्या 16529 है जबकि भारत में अभी तक कुल 8944 मरीज क्रिटिकल हैं। ब्रिटेन की स्थिति शीर्ष पांच देशों में सबसे बेहतर है।
 
कुल मामले: दूसरे देशों के मुकाबले राहत 

प्रति दस लाख आबादी पर भारत में कुल 299 मामले हैं जबकि अमेरिका में सबसे ज्यादा 7043 केस हैं। ब्राजील में 5036 केस, व रूस में 4006 मामले हैं।

यूरोप

यूरोपीय देशों में 20 मई के बादहर दिन मिलने वाले मामलों की संख्या घट रही है। पर ब्लैक लाइफ मैटर्स अभियान के तहत हुए तमाम बड़े प्रदर्शनों के कारण यहां संकट दोबारा लौट सकता है।

अफ्रीका महाद्वीप
 

अफ्रीकी महाद्वीप दुनिया के लिए बड़ा खतरा बनने वाला है। यहां के 54 देशों में वायरस फैल गया है। इस महाद्वीप में 98 दिन में संक्रमण के एक लाख मामले हुए, वहीं केस दोगुने होने में मात्र 18 दिन लगे।