ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
पेट दर्द और पेट फूलने की शिकायत लेकर आए मरीजों में मिला कोरोना संक्रमण
July 15, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • health & mahila jagat/Fashion

कोरोना के संक्रमण से सिर्फ फेफड़े बीमार नहीं हो रहे हैं, यह वायरस आंतों को भी जख्मी कर रहा है। इसके कारण पाचन क्षमता कमजोर हो रही है। आंत के साथ लिवर भी इसकी चपेट में आ जा रहा है। मरीजों को खून की उल्टियां भी हो रही है। कुछ मरीजों में तो संक्रमण के सिर्फ यही लक्षण ही मिल रहे हैं। 

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती 12 मरीजों में आंतों के संक्रमण के लक्षण मिले हैं। इनमें से 10 मरीज पेट दर्द और पेट फूलने की शिकायत लेकर पहुंचे थे। उनकी शिकायत थी कि खाना पच नहीं रहा है। दो मरीजों को खून की उल्टी हुई। शौच के दौरान भी खून आ रहा था। मेडिसिन विभाग के डॉक्टरों ने एहतियातन  कोरोना जांच कराई तो संक्रमण की तस्दीक हुई। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में प्राइवेट अस्पताल से रेफर होकर पहुंचे दो मरीजों में भी कोरोना का संक्रमण मिला है। उनमें से एक की हालत नाजुक होने पर वेंटिलेटर पर रखना पड़ा। वह मरीज 4 दिन वेंटिलेटर पर रहा।

आंत की म्यूकोसा को क्षतिग्रस्त कर रहा है वायरस
जिला अस्पताल के फिजिशियन डॉक्टर राजेश कुमार ने बताया कि वायरस के संक्रमण का असर आंत पर हो रहा है। संक्रमण के दौरान वायरस आंत की आंतरिक झिल्ली (म्यूकोसा) को नुकसान पहुंचा रहा है। घाव भी बना रहा है। म्यूकोसा में छेद हो रहा है। झिल्ली फटने से आंत में रक्तस्राव हो रहा है। कुछ मामलों में रक्त उल्टी के जरिये बाहर निकल रहा है।

बढ़ जा रहा एंजाइम, नहीं पच रहा भोजन 
बीआरडी मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. राजकिशोर सिंह ने बताया कोरोना का असर आंत के साथ लिवर पर सबसे ज्यादा हो रहा है। पहले से लिवर की बीमारी से पीड़ित मरीजों को इससे खतरा बढ़ जा रहा है। संक्रमण लिवर तक पहुंचने पर ट्रांसएमिनेज एंजाइम का स्तर तेजी से बढ़ रहा है। यह एंजाइम आंत में खाना पचने की प्रक्रिया को बाधित करता है। इससे भूख कम लगने और उल्टी की शिकायत होती है। कुछ मरीजों को पेट दर्द, पेट फूलने और लिवर के बढ़ने की भी समस्या इस एंजाइम के कारण होती है।

पेट दर्द को न करें नजरअंदाज
कोरोना वार्ड के नोडल अधिकारी रहे डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया कि कुछ मामलों में मरीज को पेट दर्द के अलावा और कोई लक्षण ही नहीं आए। अस्पताल में मरीज पेट दर्द, पेट फूलने शिकायत लेकर आए थे। सामान्य तौर पर यह अपच का मामला लगा। एक दर्जन से अधिक मामलों में कोरोना की तस्दीक के बाद अब सभी सतर्क हैं। ऐसे मरीजों की अब एहतियातन कोरोना संक्रमण की जांच कराई जा रही है। इन लक्षणों को किसी भी सूरत में नजरअंदाज न करें।