ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
नाक पर गिरे छिपकली तो जानिए क्‍या होने वाला है
July 31, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • aastha/Jyotish

शकुन शास्‍त्र ज्‍योतिष का एक अंग है। इसमें जीवन में प्रतिदिन घटने वाली घटनाओं को लेकर शुभ-अशुभ शकुन के बारे में बताया गया है। पशु-पक्षिओं का इस शास्‍त्र में फोकस है। मनुष्‍य और जीव-जंतुओं का प्रत्‍यक्ष-अप्रत्‍यक्ष रूप से बेहद करीब का रिश्‍ता है। शकुन शास्‍त्र के जरिए हम ऐसी घटनाओं का पता लगा सकते हैं जो किसी ना किसी तरह से हमारे जीवन को प्रभावित करती हैं। इनसे हम भविष्‍य की घटनाओं के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं। छिपकली भी इनमें से एक है। व्‍यक्‍ति के घर में छिपकली किसी ना किसी तरह से रहती ही है। ऐसे में जब छिपकली किसी के ऊपर गिरती है तो बहुत से विचार किए जाते हैं। जानिए छिपकली का व्‍यक्‍ति पर गिरना किस तरह के संकेत देता है। 

-यदि छिपकली व्‍यक्‍ति के दाएं कान पर गिरती है तो यह आभूषण मिलने का इशारा करती है। 
-बाएं कान पर छिपकली का गिरना आयु में बढ़ोतरी का सूचक माना गया है। 
-यदि छिपकली नाक पर गिरती है तो इसका मतलब है कि जल्‍द ही भाग्‍योदय होने वाला है। 
-यदि छिपकली मुंह पर गिरती है तो यह अच्‍छे भोजन मिलने का संकेत है। 
-बाएं गाल पर छिपकली का गिरना पुराने मित्र से मुलाकात का संकेत देता है। 
-यदि छिपकली व्‍यक्‍ति के गर्दन पर गिरती है तो इसका मतलब है कि यश में वृद्धि होगी। 
-दाढ़ी पर छिपकली का गिरना अच्‍छा संकेत नहीं है। यह किसी बड़ी दुर्घटना का संकेत है।  
(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)