ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
क्वारंटाइन होने के डर से मुंबई में 'अंडरग्राउंड' हुई पटना पुलिस
August 4, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • National/Others

पटना I पटना के एसपी सिटी विनय तिवारी के क्वारंटाइन किए जाने के बाद अब वहां मौजूद एसआईटी को बीएमसी के लोग ढूढ़ रहे हैं। इस कारण सोमवार को एसआईटी कुछ देर तक काम करने के बाद 'अंडरग्राउंड' हो गई। एसआईटी को जानबूझकर परेशान करने के लिये ऐसा किया जा रहा था। आरोप है कि मुंबई पुलिस के इशारे पर ये सबकुछ हो रहा है ताकि पटना पुलिस अपनी जांच पूरी न करे सके। सूत्रों की मानें तो दोपहर के एक बजे पटना पुलिस की टीम को जानकारी मिली कि बीएमसी के लोग सभी अफसरों को तलाश रहे हैं। उनका पता पूछा जा रहा है। कई जगहों पर बीएमसी के लोगों ने पटना पुलिस के कर्मियों की तलाश भी की लेकिन जब वे नहीं मिले तो बीएमसी के लोग वापस चले गये। 

सीएम ने आईपीएस को क्वारंटाइन करने पर जताई नाराजगी 
जांच करने गए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को वहां पर रविवार की रात जबरन क्वारंटाइन किये जाने से बिहार और महाराष्ट्र के बीच विवाद बढ़ गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को विधानमंडल सत्र में भाग लेने जाने के क्रम में पत्रकारों से बातचीत में उक्त घटना पर नाराजगी जतायी है। उन्होंने कहा कि सिटी एसपी को क्वारंटाइन करना ठीक नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सरकार की तरफ से डीजीपी ने पूरी सूचना दी है। बिहार के डीजीपी खुद भी वहां के डीजीपी से बात करेंगे। पत्रकारों द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से आप बात करेंगे, इसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राजनीतिक बात नहीं है। सीधे जो कानूनी जिम्मेवारी है, बिहार पुलिस के प्रति, उसे हम निभा रहे हैं। उसी के अनुसार काम हो रहा है। विधानमंडल सत्र में भाग लेने जाने के क्रम में मुख्यमंत्री राजधानी वाटिका में वृक्षों को रक्षासूत्र बांधा और वहीं पर पत्रकारों ने उनसे यह सवाल किया। 

दूसरी ओर, सोमवार को ज्ञानमंडल परिसर में बुलाई गई विधानमंडल के एक दिवसीय मानसून सत्र में भी महाराष्ट्र पुलिस का रवैया छाया रहा। दोनों सदनों में महाराष्ट्र पुलिस के रवैये पर सदस्यों ने आक्रोश जताया। बिहार विधानसभा और बिहार विधान परिषद में सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या के इस मामले की जांच सीबीआई को सौपनें की मांग गूंजी।