ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी व मुहर्रम पर नहीं निकलेगा जुलूस
August 12, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • Lucknow/UP News

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में बेकाबू हो रहे कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए योगी सरकार लगातार प्रयास कर रही है। समय-समय पर गाइडलाइन जारी कर कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसी क्रम में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी और मुहर्रम के मौकों पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इन मौकों पर कहीं कोई पंडाल, जुलूस अथवा शोभायात्रा निकालने की कोई अनुमति न दिए जाने के भी कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 की गाइडलाइन का पूरी सख्ती से अनुपालन कराया जाए।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर किसी भी जुलूस अथवा झांकी की अनुमति नहीं दी जाएगी। गणेश चतुर्थी के अवसर पर कहीं भी पूजा पंडाल में कोई भी मूर्ति स्थापित न की जाए और न ही कहीं शोभायात्रा की अनुमति दी जाए। इसी तरह मुहर्रम के अवसर पर किसी प्रकार के जुलूस व ताजिया की अनुमति न दी जाए।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा है कि प्रशासन व पुलिस के अधिकारी पीस कमेटी की बैठकें करें और व्यवस्था बनाए रखने के लिए धर्म गुरुओं का भी पूरा सहयोग लें। संवेदनशील व कंटेनमेंट जोन में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती किए जाने के साथ ही सघन चेकिंग कराई जाए। इसके अलावा किसी भी धार्मिक स्थल पर भीड़ एकत्रित न होने दी जाए। खासकर सोशल मीडिया की कड़ी मानीटरिंग की जाए और माहौल बिगाड़ने की साजिश करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चत की जाए।

साइबर अपराधों पर तेजी से लगे अंकुश : अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने तेजी से बढ़ रहे साइबर अपराधों पर अंकुश लगाने के कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि लखनऊ व गौतमबुद्धनगर के अलावा 16 परिक्षेत्रीय मुख्यालयों में साइबर क्राइम थाने क्रियाशील हो गए हैं। साइबर क्राइम थानों में सभी संसाधन भी उपलब्ध करा दिए गए हैं। लोकभवन में साइबर अपराधों की रोकथाम की समीक्षा बैठक कर रहे अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि सभी साइबर थानों के प्रभारियों के सीयूजी नंबरों का खूब प्रचार-प्रसार किया जाए, जिससे लोग साइबर क्राइम की स्थिति में मदद मांग सकें। उन्होंंने साइबर क्राइम की हर शिकायत को पूरी गंभीरता से लेकर तत्परता से कार्रवाई का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के समय साइबर अपराधी खासे सक्रिय हो गए हैं। प्रधानमंत्री केयर फंड, ऑनलाइन डिलिवरी व अन्य योजनाओं का झांसा देकर ठगी की घटनाएं बढ़ी हैं। ऐसे सभी मामलों में गंभीरता से जांच कर आरोपितों के विरुद्ध कठोर विधिक कार्रवाई की जाए।