ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
गर्मी से बचना चाहते हैं तो अपनी डाइट में पुदीना शामिल करें
June 16, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • health & mahila jagat/Fashion

पुदीना गर्मी में लू से बचाने के साथ ही आपको सेहतमंद भी बनाता है। कोरोना के इस दौर में अस्थमा के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद है पुदीना।

पुदीने की भीनी-भीनी खुशबू जितनी दिलकश होती है, पुदीना उतना ही सेहत के लिए असरदार भी होता है। गर्मियों के इस मौसम में हम लू और हीट स्ट्रोक से तभी बच सकते हैं, जब हम अपनी डाइट में गर्मी से बचाव करने वाले फल और सब्जियां शामिल करें। पुदीना का सेवन गर्मियों में सबसे अच्छा माना जाता है। गर्मियों में पुदीना लू से बचाने में भी सबसे ज्यादा सहायक होता है। गर्मियों में रोजाना पुदीने का जूस पीने से आपको ठंडक का अहसास होता है, साथ ही आप हाइड्रेटेड भी रहते हैं। पुदीना खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ आपके खाने की महक भी बढ़ाता है। आप भी इस गर्मी अपने पाचन को दुरुस्त रखना चाहते हैं और बीमारियों से महफूज रहना चाहते हैं तो पुदीने को अपनी डाइट में शामिल करें। आइए जानते हैं पुदीने के फायदों के बारे में-

अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद। पुदीना कफ से राहत दिला सकता है। पुदीने के पत्ते को अंजीर के साथ सेवन करने से सीने में जमा कफ आसानी से बाहर आ जाता है।

पुदीने का जूस पीने से भी सांस संबंधित परेशानियों से राहत मिल सकती है।

पेट की परेशानी से निजात दिलाता है पुदीना। पेट में जलन या पेट फूलने की परेशानी से राहत दिलाने में भी पुदीना काफी फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए पुदीने के रस को एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर पिए राहत महसूस होगी।

गर्मी में अक्सर लोगों को पीलिया की बीमारी होने का डर रहता है। गर्मी में आप पुदीने का सेवन करने से ऐसी बीमारियों से आप बचे रहेंगे।

पुदीने का सेवन करते हुए बरतें सावधानी

पुदीना काफी हेल्दी होता है, लेकिन इसका ज्यादा सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकता है। ध्यान दें कि पुदीने के पत्तों का सीमित मात्रा में सेवन करें। अधिक मात्रा में सेवन गुर्दे और आंतों के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।