ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
डॉक्टर, नर्स समेत 40 पॉजिटिव, दो की मौत, लखनऊ में 981 हो गई मरीजों की संख्या
June 26, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • Lucknow/UP News

लखनऊ I लखनऊ में लोहिया संस्थान के रेजिडेंट डॉक्टर, पीजीआई की नर्स और रिजर्व पुलिस लाइन में तैनात आठ पुलिसकर्मी समेत 40 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जबकि दो लोगों ने दम तोड़ दिया। इसमें दिल्ली निवासी युवती व एलडीए कॉलोनी का रहने वाला एक अधेड़ है। अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 16 हो गई है। इसमें एक मरीज की मौत के बाद दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

वहीं, जेसीपी कानून व्यवस्था नवीन अरोरा और 21 पुलिसकर्मी होम क्वारंटीन हो गए हैं। लोहिया संस्थान के न्यूरो सर्जरी विभाग में भर्ती मरीज के तीमारदार के संक्रमित होने के बाद रेजिडेंट डॉक्टर की भी जांच कराई तो कोरोना की पुष्टि हुई। ऑपरेशन थिएटर बंद कर रेजिडेंट के संपर्क में आने वालों को क्वारंटीन किया गया है।
वही, माइक्रोबायोलॉजी विभाग का एक कर्मचारी और कोविड हॉस्पिटल में तैनात टेक्नीशियन भी संक्रमित हो गया है। तीनों को भर्ती किया गया है। लोकबंधु राजनारायण हॉस्पिटल का एक कर्मचारी भी संक्रमित हो गया है। वहीं, 108 एंबुलेंस सेवा का संचालन करने वाली संस्था के चार कर्मचारियों में कोरोना की पुष्टि हुई है। 
रिजर्व पुलिस लाइन में तैनात आठ पुलिसकर्मी भी संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। इन्हें लोहिया के कोविड हॉस्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। उधर, एक समाचार चैनल के 6 कर्मचारियों को संक्रमण हुआ है। पारा, तेलीबाग, एलडीए, विभूतिखंड, हुसैनाबाद, विवेकखंड और विजयनगर के एक-एक मरीज हैं। इसके अलावा आलमबाग के सात और गौतमपल्ली के तीन लोग संक्रमित हो गए हैं।

पीजीआई के गैस्ट्रोएंटरोलॉजी वार्ड में कार्य करने वाली नर्स की तीन दिन पहले तबीयत खराब हो गई थी। गुरुवार को उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। यह नर्स केंद्रीय विद्यालय के पास स्थित आवास में रह रही थी। उसे कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। संपर्क में आने वाले वार्ड और आवासीय परिसर के 20 लोगों की जांच कराई गई है। पीजीआई प्रशासन का कहना है कि सीधे संपर्क में आने वालों के सैंपल ले लिए गए हैं। परिसर में रहने वाला कोई कर्मचारी पहली बार पॉजिटिव पाया गया है।

फेल हो गया था रेस्पीरेटरी सिस्टम
केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि हफ्ताभर पहले बुखार संग सांस लेने में तकलीफ के एलडीए कॉलोनी निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति चार दिन पहले केजीएमयू में कोरोना की जांच कराई। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर 23 जून को मरीज को केजीएमयू में भर्ती कराया गया। इस दौरान वह ऑक्सीजन सपोर्ट पर चले गए। सांस लेने में तकलीफ होने पर डॉक्टरों ने आईसीयू में रखा। बुधवार रात इलाज के दौरान उनकी सांसें थम गईं।

मल्टीऑर्गन फेल होने से हुई युवती की मौत
दूसरी मौत नई दिल्ली के प्रेमकुंज की रहने वाली 24 वर्षीय युवती की केजीएमयू में हुई। हादसे में जख्मी युवती को परिजनों ने पहले शहीद पथ स्थित मेंदाता अस्पताल में भर्ती कराया था। जांच कोरोना पॉजिटिव निकली तो गुरुवार सुबह सवा सात बजे केजीएमयू शिफ्ट कराया गया, जहां मौत हो गई। डॉ. डी हिमांशु के मुताबिक, मल्टीऑर्गन फेल होने व सांस लेने में तकलीफ के चलते युवती की मौत हुई।