ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
धीरे-धीरे अनलॉक हो रही जिंदगी इसलिए इस समय बरतनी होगी अधिक सावधानी
July 19, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • health & mahila jagat/Fashion

हमारे बीच कोरोना का भय खत्म होता जा रहा है। यह भय खत्म होना भी चाहिए लेकिन सावधानी के स्तर को घटाया नहीं जा सकता क्योंकि यह एक सच्चाई है कि अभी हालात पूरी तरह काबू में नहीं हैं।

अनलॉक-2 के इस समय में सामान्य जिंदगी पटरी पर लौटने के दौर में है। देश के एक बड़े हिस्से में ज्यादातर गतिविधियां आरंभ हो गई हैं और ऐसे में कुछ लोग यह सवाल भी पूछने लगे हैं कि क्या हमारे बीच कोरोना का भय खत्म होता जा रहा है। यह भय खत्म होना भी चाहिए, लेकिन सावधानी के स्तर को घटाया नहीं जा सकता, क्योंकि यह एक सच्चाई है कि अभी हालात पूरी तरह काबू में नहीं हैं।

देश में संक्रमितों की संख्या दस लाख की संख्या को पार कर चुकी है। स्वस्थ होने वालों की दर अच्छी है, कुल सक्रिय मामले कम हैं, लेकिन आखिर कोई न कोई वजह तो है ही कि राज्यों में नए सिरे से लॉकडाउन किए जा रहे हैं। आइए जानते हैं कि हमें आने वाले दिनों में किस तरह अपना ख्याल रखना चाहिए और हमारे लिए किन गतिविधियों में कितना खतरा है।

अलग-अलग गतिविधियों के लिए खतरे के स्तर का आकलन विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल की ओर से किया गया है। इसका आकलन यह मानते हुए किया गया है कि लोग दिशा-निर्देश के मुताबिक शारीरिक दूरी के नियमों का भी पालन कर रहे हैं और मास्क भी पहन रहे हैं।

कम खतरा

अगर आप कोरोना को लेकर सतर्क हैं और शारीरिक दूरी तथा मास्क पहनने के मामले में तनिक भी लापरवाही का परिचय नहीं दे रहे हैं तो किसी संक्रमित व्यक्ति द्वारा स्पर्श किए गए पार्सल को खोलने जैसी गतिविधियों में आपके लिए ज्यादा खतरा नहीं है। आप टेनिस और बैर्डंमटन सरीखे ऐसे खेल भी खेल सकते हैं जिनमें एक-दूसरे के निकट संपर्क में आने की संभावना कम रहती है।

मध्यम-कम खतरा

आसपास की दुकानों से घरेलू सामानों की खरीदारी, वॉक पर जाने, र्रंनग, अकेले बाइक चलाने जैसी गतिविधियों में आप मध्यम-कम खतरे का सामना कर रहे हैं।

मध्यम खतरा

मॉल में खरीदारी, लगातार बाहर निकलना, सावधानी का खयाल रखे बिना किसी के घर में जाना। अगर आप पूरी तरह से तैयारी किए बिना कोई कार्यक्रम बना लेते हैं और लोगों के बीच जाते हैं तो आप पर मध्यम स्तर का खतरा बना रहेगा।

मध्यम-उच्च खतरा

हेयर सैलून और रेस्तरां जैसी जगहों में जाने, फुटबॉल सरीखे कांटेक्ट खेल में भाग लेने, लोगों से गले मिलने, हाथ मिलाने या फिर शादी जैसे समारोहों में शामिल होने पर आप मध्यम-उच्च खतरे में हैं।

उच्च खतरा

भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों में शामिल होना। सतर्कता को लेकर लापरवाही दिखाते हुए सामाजिक गतिविधियों में भाग लेना आपको उच्च खतरे के दायरे में लाएगा। 

हमेशा ध्यान रखें

कोरोना से बचाव के लिए विशेषज्ञ, डॉक्टर और अन्य चिकित्सा पद्धतियों के जानकार तमाम सुझाव देते हैं, खासकर संक्रमण रोकने के लिए। इस संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्रालय और स्थानीय अधिकारियों की ओर से भी दिशा-निर्देश जारी किए जाते रहे हैं, जिनका पालन किया जाना आवश्यक है।

बेहतर यही है कि जब भी किसी सुझाव को लेकर असमंजस हो तो किसी विशेषज्ञ अथवा डॉक्टर से परामर्श कर लिया जाए। सामान्य रूप से कुछ ऐसे सुझाव हैं जिन पर अमल करके हम खुद को कोरोना के संक्रमण से बचा सकते हैं...

- अगर आप किसी पार्क में वॉक के लिए जाते हैं तो यह ध्यान रखें कि मास्क के मामले में कोई कोताही न हो और शारीरिक दूरी के नियम का पूरी तरह खयाल रखा जाए। इसके लिए आपको आसपास के लोगों के साथ दूरी बनानी होगी। किसी जानकार के साथ लंबी बातचीत आपके हित में नहीं है। अगर ऐसी नौबत आए तो इसे दो-तीन मिनट तक ही सीमित रखें।

- वॉक के लिए सबसे अच्छा समय सुबह जल्दी है और यह 45 मिनट के भीतर रहे तो और भी अच्छा है।  

- घर लौटने पर आपके लिए स्नान करना और अपने कपड़े अलग धो लेना बेहतर है। वैसे तो आपके लिए बाहर खाना खाने न जाना ही अच्छा है, लेकिन यदि इसकी नौबत आ ही जाए तो बेहद सतर्क रहें और अपना सैनिटाइजर इस्तेमाल करें। 

- ऑफिस में काम करते हुए आप हमेशा मास्क पहनें। यह आपके लिए और आपके साथियों, दोनों के लिए बेहतर है। 

- मॉल में हों तो फूड कोर्ट और सार्वजनिक शौचालयों जैसी जगहों से बचना बेहतर है।