ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
Coronavirus से मौतें नहीं थमीं तो कार्रवाई तय - CM योगी आदित्‍यनाथ
June 8, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • Lucknow/UP News

गोरखपुर । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि मंडल में कोरोना संक्रमण से किसी की मौत नहीं होनी चाहिए। ऐसा होने पर संबंधित अफसरों की जवाबदेही तय करते हुए कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने मंडलायुक्त को निर्देशित किया कि अपने स्तर से भी जिलाधिकारियों को निर्देशित करें, कि किसी भी दशा में मृत्यु दर नहीं बढऩी चाहिए।

प्रवासियों को दिए जा रहे रोजगार के संबंध में प्रेजेंटेशन देंगे मंडलायुक्त

गोरखपुर के एनेक्सी सभागार में पुलिस, प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के साथ बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों में भर्ती मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएं। इसके लिए अस्पतालों को आरएनए इंस्ट्रक्टर जांच मशीन समेत अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। उन्होंने ज्यादा से ज्यादा सैंपल जांच के निर्देश दिए। मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने मुख्यमंत्री को बताया कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में नियमित पांच सौ सैंपल की जांच हो रही है। मशीन मिलने के बाद प्रतिदिन सात सौ से अधिक सैंपल की जांच हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने मरीजों को पोषक तत्वों से भरपूर भोजन देने के साथ ही पीने के लिए गर्म पानी देने का निर्देश दिया, जिससे वह जल्द स्वस्थ हो सकें। कहा कि शौचालयों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान रहे और डाक्टर पीपीई किट पहनकर ही मरीजों से मिलें।

अफसर फील्ड में निकलकर करें निगरानी 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कमिश्नर, डीएम व एसडीएम फील्ड में उतरें और निगरानी समितियों पर फोकस करें। प्रवासियों के लिए किस तरह रोजगार के अवसर सृजित किए जा हैं, इसको लेकर मुख्यमंत्री ने मंडलायुक्त को एक सप्ताह में प्रेजेंटेशन देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि हर आदमी को काम मिले, इसके लिए व्यापक कार्ययोजना तैयार की जाए। आजीविका मिशन व मनरेगा से लोगों को जोड़ा जाए। उन्होंने दुग्ध समितियों के साथ ही टेराकोटा का स्टोर रूम बनाने का निर्देश दिया है, जिससे दिवाली में यहां की गौरी-गणेश की मूर्तियां घर-घर जाएं।

25 जून तक चालू किया जाए गोरखनाथ रोड पर यातायात

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेशनल हाईवे के अधिकारियों को ध्वस्तीकरण पूरा कर, मलबा हटाकर 25 जून तक गोरखनाथ रोड पर यातायात शुरू करने का निर्देश दिया। गोरखनाथ मंदिर में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री ने कार्य की प्रगति पर संतोष जताया। जंगल कौडिय़ा-मोहद्दीपुर फोरलेन निर्माण को लेकर गोरखनाथ में ध्वस्तीकरण अभियान चल रहा है। इसकी वजह से गोरखनाथ रोड पर पुल से लेकर थाने के आगे तक यातायात बंद है। नेशनल हाईवे के कार्य अधीक्षक एमके अग्रवाल ने प्रगति के बारे में मुख्यमंत्री को विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने डिवाइडर बनाने और रोशनी के लिए स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया। अधिकारियों ने बताया कि नाला निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि गोरखनाथ रोड के दोनों तरफ मलबे को हटाएं। जिससे आसपास रहने वालों को सहूलियत हो।

12 जून तक पूरा हो जाएगा लाइन शिफ्टिंग का कार्य

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जंगल कौडिय़ा-मोहद्दीपुर चौक सड़क चौड़ीकरण का कार्य 25 जून तक पूरा करने का निर्देश दिया है। गोरखनाथ मंदिर में आयोजित बैठक में उन्होंने इस कार्य के प्रगति की समीक्षा की। बैठक में मौजूद बिजली निगम के मुख्य अभियंता ई. देवेंद्र सिंह से अब तक किए गए कार्यों के बारे में पूछा। मुख्य अभियंता ने बताया कि 95 फीसद कार्य पूरा किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कार्य की प्रगति पर प्रसन्नता जताई और बचा कार्य भी जल्द पूरा करने को कहा। मुख्य अभियंता ने बताया कि शेष कार्य भी 12 जून तक पूरा कर लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनप्रतिनिधियों से अपील की है कि वह प्रदेश को कम्युनिटी कोरोना संक्रमण का हब बनने से रोकने में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें। गांव-गांव पहुंचकर लोगों को संक्रमण से सतर्कता को लेकर जागरूक करें। कोरोना संदिग्ध व्यक्ति की तत्काल जांच कराएं। पॉजिटिव पाए जाने पर उसे तत्काल क्वारंटाइन सेंटर पहुंचाने का इंतजाम करें। मुख्यमंत्री एनेक्सी भवन में जनप्रतिनिधियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने सही समय पर जरूरी निर्णय लेकर कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण में आशानुरूप सफलता पाई है। इसे आगे भी जारी रखना है। इसके लिए जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र में विशेष सक्रियता और सतर्कता बरतनी होगी। ट्रेनों और बसों से बड़ी संख्या में अपने घर पहुंचे लोगों को फिजिकल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए जागरूक करते रहना होगा। गांवों में मास्क और सैनिटाइजर की कमी न होने देने का निर्देश भी मुख्यमंत्री ने सभी जनप्रतिनिधियों को दिया।

उन्होंने जनप्रतिनिधियों को ट्रूनेट मशीन की जानकारी भी दी, जो महज एक घंटे में किसी भी व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव या निगेटिव होने की रिपोर्ट दे देगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि फिलहाल जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेज को यह मशीन उपलब्ध कराई गई है। जल्द ही निजी अस्पतालों तक इसका विस्तार किया जाएगा। बैठक में सांसद रवि किशन व कमलेश पासवान, विधायक फतेह बहादुर सिंह, विपिन सिंह, महेंद्रपाल सिंह, शीतल पांडेय, संत प्रसाद, विमलेश पासवान, संगीता यादव, देवेंद्र प्रताप सिंह, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ.धर्मेंद्र सिंह और क्षेत्रीय महामंत्री संगठन रत्नाकर भी मौजूद रहे। पूर्व मंत्री शिवप्रताप शुक्ल शहर से बाहर होने के कारण और विधायक डॉ.राधा मोहनदास अग्रवाल अस्वस्थ होने के चलते बैठक में शामिल नहीं हो सके।