ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
भूमि पूजन के बाद से लोगों के पास आ रहे भड़काऊ कॉल, पुलिस अलर्ट
August 10, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • Lucknow/UP News

आगरा I अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखने के चार दिन बाद ही लोगों के पास भड़काऊ फोन आने लगे हैं। दुस्साहासिक बात यह है कि शातिर पुलिसकर्मियों को भी कॉल कर रहा है। फोन इंटरनेट के जरिए किए जा रहे हैं। जिससे यह पता नहीं चल पा रहा है कि आरोपित कहां से फोन कर रहा है। एक व्यक्ति ने कॉल रिकार्ड कर ली थी। वह ऑडियो क्लिप भी वायरल हो रही है। खुफिया एजेंसियां जांच में जुट गई हैं। 15 अगस्त निकट है, इसलिए सतर्कता बरती जा रही है।

लोगों के मोबाइल पर जिस नंबर से कॉल आ रही हैं वह नंबर प्लस वन से शुरू होता है, लेकिन हर बार आगे के नंबरों की श्रृंखला बदल जाती है। कॉल करने वाला बोल रहा है कि 15 अगस्त को नरेंद्र मोदी को परचम फहराने से रोकना होगा। वह मंदिर की नींव के आयोजन को हिंदू राष्ट्र के निर्माण की पहल बता रहा है। समुदाय विशेष को भड़काने के लिए कई और बातें भी बोल रहा है। कॉल सुनने के बाद अधिकारी मान रहे हैं कि यह किसी पेशेवर ने नहीं बनाया है। बात करने में शुद्ध उर्दू का प्रयोग नहीं किया गया है। उसकी आवाज के साथ कई बार कुत्ते के भौंकने की आवाज भी है। इससे संभावना है कि कॉल करने वाला छिपकर अकेले नहीं रह रहा है। माहौल बिगाड़ने के लिए यह किसी सिरफिरे का भी काम हो सकता है।

समुदाय विशेष को भड़काने की कोशिश

पुलिस और खुफिया एजेंसियों का मानना है कि समुदाय विशेष को भड़काने के लिए इंटरनेट कॉल का इस्तेमाल किया गया है। आशंका है कि यह कॉल अब तक बड़ी संख्या में लोगों के पास आ चुकी होगी। इसके चलते खुफिया एजेंसियां कॉल करने वाले के आईपी एड्रेस का पता लगाने का प्रयास कर रही हैं। 

पुलिस के सीयूजी नंबर पर भी आ रहीं कॉल

अभी तक इस तरह की कॉल आम लोगों के मोबाइल नंबरों पर आती रही हैं। कॉल अब अधिकारियों और थाना प्रभारियों के सीयूजी नंबर पर भी आ रहीं हैं। इसके चलते हर कोई हैरान है। वह जल्द से जल्द कॉल के पीछे छिपे चेहरे को सामने लाने का प्रयास कर रही है।

'सतर्क रहने की जरूरत'

लोगों के मोबाइल पर इस तरह की एक कॉल आने की जानकारी मिली है। आगरा के लोग समझदार हैं। लोगों के भड़काने में नहीं आते। फिर भी सतर्क रहने की जरूरत है। यह किसी अराजक तत्व की हरकत है। कॉल के बारे में पता करने के लिए साइबर सेल की टीम जुटी हुई है। स्वतंत्रता दिवस निकट होने के चलते पहले से सतर्कता बढ़ा दी गई है।- बबलू कुमार, एसएसपी