ALL National/Others Lucknow/UP News aastha/Jyotish health & mahila jagat/Fashion recipe international Bollywood/entertainment technology Cricket Travels
भारत में कोविड-19 मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी
June 4, 2020 • जयंती एक्सप्रेस • National/Others

नई दिल्ली । देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सबसे ज्यादा करीब 9 हजार मामले बुधवार को दर्ज किए गए। राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में संक्रमित लोगों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। सरकार ने कहा कि इस बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी देश में बढ़ी है और इनका आंकड़ा एक लाख के पार पहुंच गया है जबकि देश में जांच की सुविधा में भी खासा इजाफा हुआ है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और दिल्ली जैसे बुरी तरह प्रभावित राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों के अलावा बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम, नगालैंड, मिजोरम और सिक्किम समेत कुछ पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में भी मामले लगातार मिल रहे हैं।

उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश और केरल भी उन राज्यों में शामिल हैं जहां कोविड-19 से संक्रमित और लोग मिले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह जारी किए जाने वाले अपडेट में बताया गया कि मंगलवार सुबह आठ बजे के बाद से संक्रमण के 8909 नए मामले सामने आए जिससे पीड़ितों की संख्या बढ़कर 207615 पहुंच गई जबकि इसी दौरान 217 लोगों की महामारी से मौत की वजह से मृतकों की कुल संख्या 5,815 हो गई। 

मंत्रालय ने कहा कि देश में कोविड-19 का इलाज करा रहे लोगों की संख्या एक लाख एक हजार से ज्यादा है जबकि कम से कम 100032 लोग बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं जिससे मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 48 प्रतिशत से ज्यादा हो गई है। अमेरिका, ब्राजील, रूस, ब्रिटेन, स्पेन और इटली के बाद भारत कोविड-19 महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित सातवां देश है। भारत में संक्रमितों का आंकड़ा मंगलवार रात को दो लाख के पार पहुंच गया था जिनमें से करीब एक लाख नए मामले बीते 15 दिनों में सामने आए। भारत में कोविड-19 का पहला मामला 31 जनवरी को सामने आया था। 

40 लाख से अधिक की जांच
स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा कि देश भर में कोविड-19 की जांच 40 लाख के पार हो चुकी है जबकि रोजाना 480 सरकारी और 208 निजी प्रयोगशालाओं के जरिए करीब एक लाख 40 हजार जांच की जा रही है। सूत्रों ने कहा कि इस क्षमता को और बढ़ाकर प्रतिदिन दो लाख जांच करने के प्रयास किये जा रहे हैं। दक्षिण भारतीय राज्यों में, केरल में एक दिन में संक्रमण के सबसे अधिक 86 मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 1,494 हो गई है। नए संक्रमित पाए गए लोगों एक डॉक्टर और चार स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं। राज्य में 1.6 लाख लोगों को निगरानी में रखा गया है। 

केरल में कुल 25872 लोग संक्रमित
केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कोविड-19 समीक्षा बैठक के बाद पत्रकारों के बताया कि नए संक्रमित पाए 53 लोग विदेश से लौटे थे जबकि 19 अन्य लोग राज्य के ही निवासी हैं। तमिलनाडु में भी बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 1286 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 25872 हो गई। इसके अलावा 11 लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 208 पर पहुंच गई है। तेलंगाना में हैदराबाद के सरकारी अस्पताल के चार डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। उत्तर भारत में, हिमाचल प्रदेश के दूरस्थ किन्नौर जिले में पहली बार कोविड-19 संक्रमण के मामले सामने आए हैं। दिल्ली से लौटे दो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। राज्य में लाहौल-स्पीति को छोड़कर 12 में से 11 जिलों में संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। उत्तराखंड सरकार के एक बुलेटिन के अनुसार राज्य में कोविड-19 संक्रमण के 23 और मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 1066 हो गई है। संक्रमित पाए गए लोग दिल्ली, मुंबई और अलीगढ़ से लौटे थे।

गुजरात में 485 नए केस
गुजरात में 485 और लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद संक्रमितों की संख्या 18117 हो गई है। 30 लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 1122 हो गई है। कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे अधिक 122 लोगों की मौत हुई है। मृतकों की संख्या 2587 हो गई है। 2560 लोगों के संक्रमित पाए जाने के बाद संक्रमितों की संख्या 74860 हो गई है। करीब 1,000 लोगों को छुट्टी दी गई है।

दिल्ली में अस्पतालों की तैयारियों के लिए समिति गठित
दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य अवसंरचना को मजबूत बनाने और सभी कोविड-19 अस्पतालों की तैयारियां का जायजा लेने के लिए पांच सदस्यीय समिति गठित की है। इस बीच, एम्स में कामकाज के हालात को लेकर नर्स यूनियन का प्रदर्शन बुधवार को लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। एम्स में अबतक 47 नर्सों सहित 329 कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित पाए जा चुके हैं। यूनियन ने एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया को पत्र लिखकर काम करने के घंटे तय करने समेत कई मांगे रखी हैं।